hindi lyrics

JALWA LYRICS – Ajey Nagar (Carry)

Jalwa Lyrics

Yeah Yeah Yeah Yeah
Yeah Yeah Yeah Yeah
Ya Ya Ya Ya

Kaate Kaat Mere Dil Pe Zubaan Hai
Bhede Dil Yeh Aisa Kamaal Hai
Saala Puchhun Aaj Kiska Khayaal Hai
Reton Ki Rani Hai Kisse Kamaal Hai

Surmayi Bhari Woh Hai Bala
Dekh Ke Usko Zamaana Jala
Maya Ka Jaal Hai Uski Kala
Uske Ishaaron Pe Main Hoon Chala

Jab Woh Chale Sansar Jhuke
Jab Woh Mude Taruni Bahe
Jab Hath Uthaye Aandhi Ruke
Jab Palkein Jhukaye Toh Wakt Ruke

Advertisement

Darta Karta Phir Bhi Hai Mera Mann
Naam Sunke Badh Jaaye Dhadkan
Mitti Pe Pade Jab Uske Kadam
Karde Sakht Zameen Ko Phir Se Naram

Jalwa Teri Aankhon Ka Dekh Yeh Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharma
Teri Yaad Mein Roz Hoon Jalta
Dikha De Tu Apna Jalwa

Teri Aankhon Ka Dekh Yeh Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharma
Teri Yaad Mein Roz Hoon Jalta
Dikha De Tu Apna

Samandar Ke Jaise Badhti Lehar
Bawandar Ke Jaise Dhaati Kehar
Sone Sa Chamke Hai Uska Badan
Chhoo De Toh Amrit Bann Jaaye Zehar

Asli Hai Chehra Use Sab Hai Pata
Jaal Hai Gehra Use Kuchh Na Chhupa
Dil Hai Jo Thehra Use Nahi Hai Pata
Kya Teri Maya Zara Mujhe Bhi Bata

Dhoondhun Main Usko Kahan
Honthon Pe Jiske Hai Lipta Jahan
Itna Dard Kyun Maine Saha
Jab Milne Hi The Dono Jahan

Rukk Gayi Meri Saans Bhi
Mehsoos Karne Ki Aas Bhi
Ghul Ja Mujhmein Jaise Chashni
Katt Gayi Hai Saali Raat Bhi

Jalwa Teri Aankhon Ka Dekh Yeh Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharma
Teri Yaad Mein Roz Hoon Jalta
Dikha De Tu Apna Jalwa

Teri Aankhon Ka Dekh Yeh Jalwa
Mujhe Paas Bula Mat Sharma
Teri Yaad Mein Roz Hoon Jalta
Dikha De Tu Apna

Written by:
Ajey Nagar (CarryMinati)

जलवा Lyrics In Hindi

ये ये ये ये
ये ये ये ये
या या या या

काटे काट मेरे दिल पे ज़ुबान है
भेदे दिल ये ऐसा कमाल है
साला पूछूँ आज किसका ख़याल है
रेतों की रानी है क़िस्से कमाल है

सुरमयी भरी वो है बला
देख के उसको ज़माना जला
माया का जाल है उसकी कला
उसके इशारों पे मैं हूँ चला

जब वो चले संसार झुके
जब वो मुड़े तरुणी बहे
जब हाथ उठाये आंधी रुके
जब पलकें झुकाये तो वक़्त रुके

डरता करता फिर भी है मेरा मन
नाम सुनके बढ़ जाये धड़कन
मिट्टी पे पड़े जब उसके क़दम
करदे सख़्त ज़मीन को फिर से नरम

जलवा तेरी आँखों का देखे ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ जलता
दिखा दे तू अपना जलवा

तेरी आँखों का देख ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ तड़पा
दिखा दे तू अपना

समंदर के जैसे बढ़ती लहर
बवंडर के जैसे धाती कहर
सोने सा चमके है उसका बदन
छू दे तो अमृत बन जाये ज़हर

असली है चेहरा उसे सब है पता
जाल है गहरा उसे कुछ ना छुपा
दिल है जो ठहरा उसे नहीं है पता
क्या तेरी माया ज़रा मुझे भी बता

ढूंढूँ मैं उसको कहाँ
होंठों पे जिसके है लिपटा जहाँ
इतना दर्द क्यूँ मैंने सहा
जब मिलने ही थे दोनो जहाँ

रुक गई मेरी साँस भी
महसूस करने की आस भी
घुल जा मुझमें जैसे चाशनी
कट गई है साली रात भी

जलवा तेरी आँखों का देखे ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ जलता
दिखा दे तू अपना जलवा

तेरी आँखों का देख ये जलवा
मुझे पास बुला मत शर्मा
तेरी याद में रोज़ हूँ तड़पा
दिखा दे तू अपना

गीतकार:
Ajey Nagar (CarryMinati)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close